सीतापुर । जिले के हरगांव में पुलिस की कार्रवाई से क्षुब्ध एक युवक ने जहर खा लिया। गंभीर अवस्था में उसे जिला अस्पताल लाया गया, जहां से उसे लखनऊ रेफर किया गया है।युवक का आरोप है कि पुलिस ने उसे बेजा पकड़कर थाने पर टार्चर किया। घटना से क्षुब्ध होकर ही उसने जहर खाया है। एसपी ने सीओ सदर को जांच के आदेश दे दिए हैं। 
जानकारी के मुताबिक हरगांव कस्बे के मोहल्ला शिवनगर निवासी प्रयाश तिवारी का कहना है कि वह किसी काम से अपने दोस्त रोहित जायसवाल के साथ बुधवार शाम हरगांव चैराहे पर आया था। यहां चेकिंग के नाम पर उसे एक महिला सिपाही ने पकड़ लिया। आरोप है कि सिपाही के फोन करने पर बड़ी संख्या में थाने से पुलिस बल गया और दोनों की पिटाई करते हुए उन्हें थाने ले जाया गया। रात में भी उन लोगों को टार्चर किया गया। बताया जाता है कि इसी घटना से क्षुब्ध होकर प्रयाष ने शुक्रवार दोपहर घर पर सल्फास खा ली। उधर हादसे के बाद अफरातफरी के बीच जिला अस्पताल लाए गए युवक को गंभीर अवस्था में लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है। एसपी आरपी सिंह का कहना है कि मामले की जांच सीओ सदर  द्वारा की जा रही है। उधर सीओ सदर का कहना है कि महिला आरक्षी ने आरोप लगाया है कि प्रवेश के साथ दो और साथी थे, इन लोगों ने महिला आरक्षी पर फब्तियां कसी थीं, घटना के समय एक युवक मौके से फरार हो गया था। प्रयाश और रोहित जायसवाल को थाने लाकर रात में बिठाया गया था। गुरुवार सुबह दोनों परिवारों द्वारा शपथ पत्र देने पर उन्हें छोड़ा दिया गया था।