मथुरा (उत्तर प्रदेश). प्रवासी श्रमिकों का प्रवेश कराने को लेकर राज्य की सीमा पर यूपी (UP) और राजस्थान (Rajasthan) के पुलिसकर्मियों के बीच झड़प हो गई. कोविड-19 (COVID-19) के प्रसार को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन (Lockdown) में अनधिकृत तरीके से इन श्रमिकों को यूपी में प्रवेश कराया जा रहा था. इस दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस के दो उपनिरीक्षक घायल हो गए. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. पुलिस के अनुसार यह झड़प शनिवार रात उत्तर प्रदेश-राजस्थान सीमा पर हुई.राजस्थान के पुलिस कर्मियों ने श्रमिकों को मागोरा थानांतर्गत जाजमपट्टी सीमा के जरिए यूपी में प्रवेश कराने की कोशिश की. आरोप है कि राजस्थान के पुलिसकर्मियों ने मथुरा की सीमा पर लगा बैरियर तोड़ डाला जिससे कई श्रमिक बिना जांच के यूपी में प्रवेश कर गए. रविवार सुबह मथुरा जिले के आला अधिकारियों ने मौका मुआयना किया और भरतपुर में पुलिस के अधिकारियों से बात कर मामले को शांत कराया.

रात प्रवासी श्रमिकों का जबरन प्रवेश कराने का प्रयास
मथुरा के पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) श्रीश चंद ने बताया, ‘राजस्थान से प्रवासी श्रमिक उत्तर प्रदेश में आ रहे हैं. इनके प्रवेश के लिए मथुरा प्रशासन ने नियम तय किया है कि प्रत्येक श्रमिक की थर्मल स्क्रीनिंग होगी और उसका रिकॉर्ड रखा जाएगा. यह जानकारी दर्ज होने के बाद ही श्रमिकों को बसों के माध्यम से उनके गंतव्य को भेजा जाएगा.’ उन्होंने बताया, ‘शनिवार को पता चला कि मथुरा-भरतपुर सीमा पर राजस्थान की पुलिस प्रवासी श्रमिकों को बिना किसी रिकॉर्ड और थर्मल स्क्रीनिंग के प्रवेश करा रही है. इस पर मथुरा पुलिस ने इसका विरोध किया. उस वक्त तो राजस्थान के पुलिसकर्मी मान गए. लेकिन देर रात प्रवासी श्रमिकों को यूपी में जबरिया प्रवेश कराने का प्रयास किया गया.’

राजस्थान के पुलिसकर्मियों ने तोड़ दिया बैरियर
उन्होंने बताया कि मथुरा के पुलिसकर्मियों ने इसका विरोध किया. इस पर राजस्थान के पुलिसकर्मियों ने सीमा पर लगा बैरियर तोड़ दिया जिससे कई श्रमिक बिना जांच मथुरा में प्रवेश कर गए. इसके बाद दोनों राज्यों के जवानों के बीच भिड़ंत हो गई. रातभर दोनों राज्यों के पुलिसकर्मियों में तकरार होती रही. भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर मथुरा में श्रमिकों का प्रवेश रोका गया. सुबह मथुरा के एसएसपी गौरव ग्रोवर सहित अन्य पुलिस अधिकारी सीमा पर पहुंचे. उन्होंने भरतपुर (राजस्थान) के पुलिस अधिकारियों के साथ बातचीत की और दोषियों पर कार्रवाई के लिए कहा. दोपहर को मथुरा के जिलाधिकारी ने भी दौरा किया.

दोषी पुलिसकर्मियों पर होगी कार्रवाई
जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र व एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि राजस्थान के पुलिसकर्मियों ने कई श्रमिकों को गलत तरीके से राज्य में प्रवेश कराया और इसे रोकने पर विवाद हुआ था. जिसमें दो पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं. राजस्थान के अधिकारियों को स्थिति से अवगत करा दिया गया है तथा इस प्रकार की पुनरावृत्ति न होने तथा दोषी कर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई की बात तय की गई है.

पंजीकृत प्रवासी मजदूरों को ही मिलेगा यूपी में प्रवेश
भरतपुर के जिलाधिकारी और एसएसपी ने भी स्थिति का जायजा लिया. अब तय किया गया है कि राजस्थान द्वारा आधिकारिक तौर पर पंजीकृत प्रवासी मजदूरों को ही यूपी में प्रवेश दिया जाएगा. गौरतलब है कि इन दिनों बिहार एवं झारखण्ड के सैकड़ों की संख्या में प्रवासी श्रमिक अपने घर लौटने के लिए भरतपुर-मथुरा की सीमा पर डेरा डाले हुए हैं. इन्हें राजस्थान की ओर से अनधिकृत रूप से प्रवेश कराने के प्रयास किए जाते रहे हैं. यहीं पर पिछले सप्ताह एक तिपहिया में आ रहे आधा दर्जन से अधिक मजदूर परिवार के सदस्यों और चालक सहित एक दुर्घटना के शिकार हो गए थे.