नई दिल्ली  । भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान सरदार सिंह का मानना है कि मनप्रीत सिंह के नेतृत्व वाली मौजूदा टीम के पास अगले साल टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने का अच्छा अवसर है। भारतीय टीम ने 40 साल पहले मास्को ओलंपिक में अंतिम बार पदक जीता था। उसके बाद से ही उसे स्वर्ण का इंतजार है। 
भारतीय टीम को अपनी कप्तानी में बेहतर बनाने वाले इस पूर्व कप्तान ने कहा कि मेरा सफर संतोषजनक रहा क्योंकि मैं ऐसे युग का हिस्सा था जिसमें खेल में नई ताकत आई। 2012 में लंदन ओलंपिक में अंतिम स्थान पर रहने के बाद 2018 में जब मैंने खेल को अलविदा कहा तो भारतीय टीम दुनिया की छठे नंबर की टीम बन गयी थी। उन्होंने कहा, अब मौजूदा टीम की रैंकिंग चौथी है जिससे टोक्यो ओलंपिक के लिए इसका उत्साह बढ़ेगा। 
सरदार ने कहा कि 314 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने के बाद मुझे हमेशा इस बाद का मलाल  रहेगा कि मेरे घर में ओलंपिक पदक नहीं है पर टीम को आगे बढ़ते देखकर राहत भी मिली है। मैंने पिछले साल इस टीम को लगातार मजबूत होते हुए देखा है और इस साल एफआईएच हॉकी प्रो लीग में वे जिस तरह खेले उससे मुझे उम्मीद है कि भारतीय टीम ओलंपिक पदक जीत सकती है।