कोलकाता । मोदी सरकार और आरएसएस पर हमलावर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि उनका फोन टैप किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि समय आने पर वह फोन टैप ​का सबूत देंगी। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने पुलवामा हमले को लेकर भी भाजपा पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि चुनावों से ठीक पहले ही यह हमला क्यों हुआ। उन्होंने खुफिया रिपोर्ट होने के बाद भी 2000 से ज्यादा जवानों को एक साथ 78 गाड़ियों के काफिले में सड़क मार्ग के जरिए क्यों ले जाया जा रहा था। ममता ने कहा कि अमेरिका की खुफिया रिपोर्ट में कहा गया कि चुनावों से पहले हिंसा हो सकती हैं, क्या ये सही है?
मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग पुलवामा हमले के लिए जिम्मेदार हैं, उनके खिलाफ सरकार को सख्त कार्रवाई करनी चाहिए लेकिन बीजेपी और आरएसस इस मौके पर दंगे भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। अगर ऐसा हुआ तो देश माफ नहीं करेगा। बता दें कि ममता का बयान इस समय में आया है जब कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का तबादला कर दिया गया। पश्चिम बंगाल के चर्चित शारदा चिटफंड घोटाले में राजीव कुमार से सीबीआई ने शिलॉन्ग में पूछताछ की थी। उनसे पूछताछ करने गई सीबीआई टीम के 5 अधिकारियों को कोलकाता पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। सीएम ममता बनर्जी भी इसके विरोध में धरने पर बैठ गई थी।