लखनऊ. राजस्थान (Rajasthan) में जारी सियासी घमासान के बीच बहुजन समाज पार्टी की चर्चा जोरों पर है. दरअसल बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) ने अपने सभी 6 विधायकों को व्हिप जारी कर अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) खेमे की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा (Satish Chandra Mishra) ने व्हिप जारी करते हुए पार्टी के सभी 6 विधायकों को निर्देश दिया है कि अगर गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आता है, तो वो कांग्रेस के खिलाफ अपना वोट दें. उधर बीएसपी के इस व्हिप पर नाम लिए बगैर प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया है. प्रियंका ने इससे बीजेपी की मदद करने आरोप लगाया है.
प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया है, “भाजपा के अघोषित प्रवक्ताओं ने भाजपा को मदद की व्हिप जारी की है. लेकिन ये केवल व्हिप नहीं है बल्कि लोकतंत्र और संविधान की हत्या करने वालों को क्लीन चिट है.”

अशोक गहलोत सरकार को सबक सिखाया जाएगा: मायावती
उधर बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Supremo Mayawati) ने राजस्थान (Rajasthan) के राजनीतिक संकट पर मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर करारा हमला बोला. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार को सबक सिखाया जाएगा. अपने 6 विधायकों के लिए व्हिप जारी करते हुए मायावती ने कहा कि सभी विधायक कांग्रेस सरकार के खिलाफ वोट करेंगे. उन्होंने गहलोत सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव परिणाम आने के बाद बीएसपी ने बिना शर्त कांग्रेस को समर्थन दिया, लेकिन बदनीयती से सभी विधायकों का विलय करवा लिया गया.

बीएसपी को बार-बार दिया गया धोखा
मायावती ने कहा, 'राजस्थान चुनाव का नतीजा आने के बाद बीएसपी ने कांग्रेस को बिना शर्त के समर्थन दिया था. दुख की बात है की गहलोत ने सीएम बनने के बाद बदनीयती से बीएसपी को राजस्थान में क्षति पहुंचाने के लिये विलय करने की गैरकानूनी कार्रवाई की. यही कृत्य पिछली सरकार में भी किया गया था. बीएसपी को बार-बार धोखा दिया गया है. गहलोत को सबक सिखाया जा सकता है. इस मामले को ठंडा नहीं होने दिया जाएगा और मामले को सुप्रीम कोर्ट तक ले जाएंगे. कांग्रेस जो गैरसंवैधानिक काम कर रही है, उसे सुप्रीम कोर्ट ले जाएंगे.'