नागपुर । शिवसेना नेता एवं महाराष्ट्र के मंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण राजनीतिक मुद्दा नहीं है, बल्कि करोड़ों श्रद्धालुओं के लिए गर्व और आस्था का विषय है। गढ़चिरौली के प्रभारी मंत्री शिंदे ने शनिवारको यह बात कही।सवाल पर कि विश्व हिंदू परिषद के एक पदाधिकारी ने हाल ही में कहा था कि राम मंदिर और इससे जुड़े मुद्दों का विरोध करने वाले राजनीति लक्ष्यों को हासिल करने के लिए ऐसा कर रहे हैं, शिंदे ने कहा,‘‘ राम मंदिर राजनीतिक मुद्दा नहीं है। यह भगवान राम के लाखों श्रद्धालुओं के लिए गर्व और आस्था का मामला है।’’ उन्होंने कहा कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे जब मुख्यमंत्री नहीं थे तब अयोध्या गए थे और मुख्यमंत्री बनने के बाद भी गए थे यह आस्था, गर्व और भक्ति की बात है। मनसे प्रमुख राज ठाकरे के बयान की महा विकास आघाडी सरकार ज्यादा समय तक नहीं चलेगी पर उन्होंने कहा, लोकतंत्र में सभी को बोलने और अपनी बात रखने का अधिकार है। शिंदे ने कहा, एमवीए सरकार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में अच्छा काम कर रही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे राज्य में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को कहा था कि एमवीए के तीन सहयोगी शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस एक परिवार नहीं है बल्कि लिव-इन रिलेशनशिप में हैं और सरकार अपने आप गिर जाएगी। इस बारे में शिंदे ने कहा, यह राजनीति करने का समय नहीं है। हमें कोविड-19 की चुनौती से निपटने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है।