मुम्बई । भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कहा है कि सचिन तेंदुलकर पहली गेंद उन्हें खेलने को कहते थे। बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के साथ एक कार्यक्रम में गांगुली ने कहा कि जब भी मैं उनसे कहता था तुम भी कभी पहली गेंद का सामना कर लिया करो। हमेशा मैं ही पहली गेंद का सामना करता हूं। गांगुली ने कहा कि ऐसे में उसके पास इसके दो जवाब हुआ करते थे। एक उनका मानना था कि यदि उनका फॉर्म अच्छा है तो उन्हें नॉन-स्ट्राइकर एंड पर बने रहना चाहिए। दूसरा, जब उसका फॉर्म अच्छा नहीं था, तो वह कहता था कि 'मुझे नॉन-स्ट्राइकर के अंत में रहना चाहिए, क्योंकि यह मुझ पर दबाव डालता है। उनके पास अच्छे फॉर्म और खराब फॉर्म दोनों का जवाब था। गांगुली ने इस दौरान कहा कि इसके बाद किस तरह उन्होंने सचिन को पहले गेंद खेलने के लिए मजबूर कर दिया था। उन्होंने कहा कि आप सचिन के करीब से जाओ और नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़े हो जाओ। इसके बाद वो टीवी पर होता था जिसके बाद उसपर पहली गेंद का सामना करने का दबाव होता था। उन्होंने कहा कि ऐसा एक-दो बार हुआ है। इसका वीडियो बीसीसीआई के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी डाला गया है।