भोपाल । मध्य प्रदेश के किसानों की सब्जियां और फल नहीं बिकने के कारण, अथवा इतनी कम कीमत में बिचौलियों द्वारा मांगे जा रहे हैं। उनका लागत मूल्य भी नहीं निकल रहा है। जिसके कारण किसान अपनी फसलों को सड़कों पर फेंक कर चले जा रहे हैं। ऐसी खबरें प्रदेश के कई जिलों से मिली हैं।
शहरों में सब्जी महंगे दामों पर बिक रही हैं। वही गांव में किसानों से जो विचोलियां खरीदने जाते हैं। वह बहुत कम कीमत में सब्जी खरीदते हैं। सब्जी के खरीदार कम होने के कारण सब्जियां बिक भी नहीं पा रही हैं। जिसके कारण किसान सड़क पर फल और सब्जी फेंक कर अपने घरों को लौट जा रहे हैं।
लॉक डाउन के कारण आवाजाही और सामान खरीदने बेचने के बीच में तरह तरह के प्रतिबंध लगे होने के कारण सबसे ज्यादा आर्थिक मार किसानों को पड़ रही है। सब्जी यदि किसान खेतों से नहीं तोड़ते हैं, तो वहां खराब हो रही है। टिड्डियां अलग हमले कर रही हैं। सब्जी तोड़ने में जो लागत आती है। वह भी किसानों को नहीं मिल पा रही है। जिसके कारण मध्य प्रदेश के किसान इन दिनों भारी आर्थिक नुकसान कर्ज से जूझ रहे हैं।